घर पर सुंदर मंदिर बनाने के लिए -10 परिपूर्ण उदाहरण

Rita Deo Rita Deo
homify Modern study/office
Loading admin actions …

मंदिर या प्रार्थना क्षेत्र अधिकांश भारतीय घरों का एक अभिन्न अंग है और पुराने दिनों में लोगों के बड़े घर होने के कारन धार्मिक परंपराओं के लिए घर का एक अलग क्षेत्र पूजा कार्यो के लिए निर्धारित था। अपनी आर्थिक स्थिति के आधार पर लोग अपने पूजा घर को संगमरमर, रंगीन रोशनी, नक्काशीदार लकड़ी के पैनल और सोने और चांदी जैसी कीमती धातुओं के साथ अब भी सजाते हैं। यहां कुछ भव्य और असाधारण मन्दिर डिजाइन हैं जो आतंरिक सज्जाकारो द्वारा बनाए गए हैं और आपकी प्रार्थना क्षेत्र को फिर से परिभाषित कर उसकी भक्ति भावना को बढ़ा सकते हैं।

1. सरल मंदिर

यदि आप अनुष्ठानवादी नहीं हैं तो दीवार इकाई के भीतर एक साधारण वेदी सर्वशक्तिमान की आशिर्वाद प्राप्ति के लिए काफी है। दीवार के अंदर रौशनी के साथ सजी मूर्तियों के लिए सफेद दीवार ही सही जगह है, और अलमारी के भीतर दीपक और धूप जला सकते हैं। लकड़ी की अलमारी स्तंभ के भीतर स्थापित की गई है और नीचे दराज और कैबिनेट बने है जो की सरल मंदिर बनाने के लिए पर्याप्त हैं।

2. सही वातावरण बनाएं

यदि आपके परिवार में कई देवी-देवताओ पर विश्वास है तो रचनात्मक प्रार्थना कक्ष का यह रूप सबसे अधिक अनुकूल हो सकता है। सुंदर वॉलपेपर से सजा यह छोटे कमरा आकर्षक है जिसमे जिसमें दो से तीन लोगों के लिए पर्याप्त जगह है और बड़ा प्रार्थना टेबल अनुष्ठानों को पूरा करने में मदद करता है। पारंपरिक पीतल के दीपक सुंदर मंदिर के लिए शांतिपूर्ण सद्भाव के भावना की आभा जोड़ते हैं।

3.दिव्यमान रंगो का प्रभाव

नारंगी और पीले रंग पूजा के कार्यो में शुभ माना जाता है और यह मंदिर इन रंगो के साथ सकारात्मक चमक देता है। रंगीन रौशनी और सजावटी कागज के पीछे प्रकाश इस  मंदिर में एक आश्चर्यजनक प्रभाव देते है और देवी-देवताओं की तस्वीरों और मूर्तियों के चारों ओर एक दिव्य आभा फैलता है। यह सजावट दिखाता है कि चालाक प्रकाश एक साधारण कमरे की सुंदरता को कैसे बढ़ा सकता है।

4. पारंपरिक डिजाइन

यह स्थान एक पारंपरिक मंदिर की तरह संगमरमर के फर्श, नक्काशीदार दरवाजे और दीवारों में बना है, जो कि सिमित मूर्तियों के साथ बनाई गई है। खूबसूरत पत्थर से बनाई गई स्तम्भ इस क्षेत्र में एक पुराने पारंपरिक मंदिर सा आकर्षण को जोड़ता है और झूमर इस क्षेत्र की रंग योजना से मेल हुए छत पर एक आकर्षक पैटर्न बनाता है।

5. रसोईघर में मंदिर

कई परिवारों में रसोईघर के एक भाग को प्रार्थना क्षेत्र के रूप में निर्धारित करने की परंपरा है, अगर घर में खाली कमरे नहीं हैं जो प्रार्थना और ध्यान के लिए समर्पित हो सकते हैं। इस तरह से एक विशाल रसोई के भंडारण क्षेत्र को बंद करके और दराज के साथ एक दीवार इकाई स्थापित करके और एक स्वच्छ मंदिर की व्यवस्था करने के लिए प्रदर्शन वाले क्षेत्रों को एक समान अभ्यास कर सकते हैं। यह कमरा छोटा है लेकिन ध्यान और प्रार्थना के लिए पर्याप्त है।

6. विशाल प्रार्थना क्षेत्र

जब पूजा के लिए विशाल क्षेत्र होता है तो परिवार की सभी मूर्तियों को समायोजित करने के लिए इस तरह की दीवार कदम-शैली के आसन निर्माण का पूरा फायदा उठाना सर्वोत्तम होता है और दीपक, पूजा बर्तन इत्यादि रखने के लिए पर्याप्त स्थान भी होता है। यदि आप बजट के अधीन नहीं है तो यह विशेष प्रभावी  दीवार को कलात्मक कांच और रोशनी के साथ भी बनाया जा सकता है ताकि आपके घर में एक मज़ेदार मंदिर बनाया जा सके।

7. न्यूनतम मंदिर क्षेत्र

यह मंदिर एक माध्यम आकार की लकड़ी के अलमारियों के ऊपर बना है और भोजन कक्ष के शांत कोने पर स्थित है। मुलायम रोशनी और छोटे नक़्क़ाशीदार प्रार्थना क्षेत्र छोटे घर के लिए न्यूनतम मंदिर सिद्ध होते हैं।

8. भंडारण के साथ आकर्षक मूर्तितल

यदि आप पूजास्थल बनाने के लिए उचित जगह के बारे में सोच रहे हैं तो विधि-विधान के प्रार्थना से संबंधित सभी सामग्री का भंडारण करने के लिए इस तरह के रंगीन मंदिर का निर्माण ही सही समाधान है। दराज के साथ बने संगमरमर के मूर्तितल की स्थापना से बनाए गए इस छोटे मंदिर के लिए ख़ास तौर से बनायीं गयी कलात्मक पट्टिका आकर्षक पृस्ठभूमि प्रदान करती हुए, गलियारे के सूने कोने को उजागर करने के साथ और भंडार क्षेत्र के रूप में भी कार्यरत है।

9. भव्य पूजा घर की रचना

जब आपको प्रार्थना करने के लिए एक संपूर्ण कमरे को समर्पित करने का आनंद प्राप्त हो तो अपनी रचनात्मकता को खुल कर दिखाएं । हमारे सामने संगमरमर काउंटर को एक पूरी दीवार में लगाकर भंडारण के लिए लकड़ी के अलमारियाँ से निचला हिस्सा सजाया गया है और प्रार्थना अनुभाग दो स्तरों पर फैला हुआ है और मंदिर से ऊपर एक मंडप बनाया गया है। यह भव्य मंदिर डिजाइन आपकी पसंद के नक्काशी के साथ बनाया जा सकता है।

10. दीवार में सजा मंदिर

शहर में अंतरिक्ष की कमी के कारन सभी परिवारों एक अपरंपरागत क्षेत्र में मंदिर या पूजा कक्ष बनाने के लिए मजबूर हो जाते हैं जैसे की यहां प्रार्थना क्षेत्र दीवार के कोने में बनाया गया है, लेकिन लकड़ी के सुन्दर नक्काशी दीवार और कांच के फ्रेम से घिरे हुए एक पारंपरिक मंदिर सा आभास दिलाता है। जटिल नक्काशीदार मंदिर के निचे पूजा वस्तुओं को रखने के लिए बड़ी अलमारी बनी है जबकि सुन्दर मूर्तितल मूर्तियों को प्रदर्शित करती है।

मंदिर डिजाइनों में दिलचस्पी है और जगह की कमी है? छोटे भारतीय घरों के लिए 12 मंदिर डिजाइनों को यहाँ देखें।

आपको किस मंदिर डिजाइन पसंद आया? हमें अपनी पसंदीदा डिजाइनों के बारे में बताएं।


Highlights from our magazine