Interior Decoration:  Walls by The Inner Story

छोटे घरो के लिए 7 उत्तम पूजा अलमारियां

Rita Deo Rita Deo
Google+
Loading admin actions …

पूजा कक्ष, हर घर का वह महत्वपूर्ण स्थान है जहाँ रहने वाले सदस्य, प्रार्थना और ध्यान से घर को शुद्ध सार्वभौमिक ऊर्जा से जोड़कर जीवन के दिव्य और अनमोल क्षणों का आनंद उठाते हैं । लेकिन प्रायः छोटे घरो में एक पुरे कमरे को पूजा और ध्यान के लिए समर्पित करना कठिन होता है और आप पवित्र देवताओं को स्थापित करने के लिए घर के एक छोटे से महत्वपूर्ण क्षेत्र या कोने को समर्पित करने का प्रयास कर सकते हैं।

पर अधिकतर पूजा के लिए उपयुक्त स्थान निर्धारित करने के वक़्त हम पूजा अलमारियाँ का महत्वा  अनदेखी कर देते है जो देवताओं की जगह को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं और पूरे पूजा कक्ष के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। अपने आप में पूजा कैबिनेट एक कक्ष के मानिंद है जिसमे सारे पूजा हेतु सारे ज़रूरी चीज़ो का सयोजन किया जा सकता है ।

आज, हम आपको 7 विनम्र डिजाइनर पूजा कक्ष अलमारियाँ पेश करते हैं जो आपके छोटे घर के लिए बिलकुल उपयुक्त है और भारतीय घरों के लिए बनाई जाने वाली पूजा मंत्रिमंडल की 7 विभिन्न शैलियों को दर्शाती हैं ।

1. पारंपरिक पीतल से सुसज्जित

सीमित स्थान के कारन संछिप्त कोने  में सिमटा हुआ यह विस्तृत पूजा अलमीरा पारम्परिक पीतल के वस्तुओ से सजा है  ताकि यह शानदार और भव्य लग सके। पीतल के दीप और मूर्तियों के इस भव्य पूजा घर में को आप भूल जाते हैं कि यह एक छोटी पूजा क्षेत्र है, न कि मंदिर।

खुली शैली की अलमारी

अगर बंद अलमारी कमरे की सज्जा शैली के अनुकूल नहीं है तो रैक के आकर में एक कैबिनेट सजाने की कोशिश करें। आप आसानी से एक जगह पर कई देवी-देवताओं को चौड़े ग्रेनाइट के स्लैब पर दीया, आर्टि थाली और अन्य चीजों के साथ रख कर पूजा-अर्चना  कर सकते हैं।

3. किचन में पूजा घर

यहाँ पूजा अलमारी को कैबिनेट के अनोखे अंदाज़ में नक्काशीदार दरवाजा के साथ रसोईघर से जोड़ा गया है जो उसे मंत्रिमंडलों के बाकी हिस्सों से अलग करके, रसोई में पूजा के लिए अलग जगह प्रदान करता है। मूर्तियों और सहायक उपकरण को व्यवस्थित करने के लिए अलमारी में पर्याप्त स्थान है जो सिर्फ पूजा करते समय खोला जा सकता है और बाकि समय रसोई के धुएं और तेल से बचाने के लिए बंद रखा जा सकता है।

4. भक्ति और अलौकिक प्रेम का प्रेरणा स्त्रोत

यह सरल पूजा अलमारी को सुरुचिपूर्ण पृष्ठभूमि पैनल और कोमल प्रकाश व्यवस्था से उजागर किया गया है। समग्र डिजाइन और प्रकाश इस पूजा कक्ष को एक आध्यात्मिक चमक देते हैं जो यहाँ पूजा करने वाले के मन को आत्मिक शांति प्रदान कर असीम सुख का प्रकाशमान वातावरण उत्पन्न करता है।

5. नक्काशीदार लकड़ी के दरवाजे से सुजज्जित—

इस खूबसूरत नक्काशीदार दरवाज़े से डिजाइन किए गए प्रार्थना अलमारी को कोने के बजाये बैठक कक्ष अथवा भोजन कक्ष के बीचोबीच सजाने से वहां की सज्जा में चार चाँद लग जायेंगे।  धार्मिक प्रतीकों से सजे द्वार के कारन प्रार्थना कैबिनेट की रूप सज्जा ही निराली है जिसके द्वारा सुनहरी रूपांकनों के भीतर सजी पारम्परिक मान्यताओं को अभिव्यक्त किया गया है।

6. मंडलाकार पूजा अलमारी

मंडलाकार में बना यह पूजा क्षेत्र दीवार पर लगी अलमारी के बीच बहुत चालाकी से बनाया गया है जो दुसरे सजावट के उपकरणों के बीच अपना अनोखा स्थान निशयपूर्वक बनाये रखा है । एक पारंपरिक शैली से पूजा स्थान और अलमारी के बाकी उपकरणों के बीच सफ़ेद मंडलाकार विभाजन प्रदान करने के लिए इस्तेमाल किया गया है।

शयन कक्ष में सकारात्मक ऊर्जा

यह आधुनिक पूजा अलमारी शयनकक्ष में शान्ति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने के लिए आती उत्तम है। सफ़ेद पृष्ठभूमि का माध्यम कोमल प्रकाश से मूर्तियों को  प्रकाशमय कर एक शांतिपूर्ण माहौल बना देता है जहाँ भक्तिपूर्ण गीतों और ध्यान से मंत्रों को सुनने का स्वच्छ वातावरण बन जाता है।

कुछ और डिज़ाइन के लिए इन पूजा घरो को ज़रूर देखें ।

modern Houses by Casas inHAUS

Need help with your home project? We'll help you find the right professional

Request free consultation

Discover home inspiration!